योगी सरकार का महिलाओं को तोहफा, कौशल विकास प्रशिक्षण में 30 फीसदी आरक्षण देने का फैसला


लखनऊ :महिला सशक्तीकरण में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए सीएम योगी ने बेटियों को बड़ा तोहफा दिया है। अब दीनदयाल अंत्योदय योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले कौशल प्रशिक्षण में महिलाओं को 30 फीसदी आरक्षण देने का फैसला किया गया है। प्रशिक्षण के लिए नए सिरे से 51 संस्थाओं का चयन किया गया है। बड़े शहरों में 240 और छोटे शहरों में 120 पात्रों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।शहरी क्षेत्रों में रहने वाले जरूरतमंदों को दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (डीएवाई-एनयूएलएम) के तहत कौशल प्रशिक्षण देकर रोजगार के लिए तैयार किया जाता है। राज्य शहरी आजीविका मिशन निदेशालय प्रशिक्षण देने के लिए एजेंसियों से करार करता है। निदेशालय ने नए सिरे से प्रशिक्षण देने के लिए संस्थाओं का चयन कर लिया है।


इन्हें वर्ष 2021-22 के लिए इम्पैनल्ड किया गया है। शहरी पात्रों को चयनित करते हुए इनके माध्यम से प्रशिक्षण दिलाया जाएगा।प्रशिक्षण के लिए चयनित होने वालों में आरक्षण की व्यवस्था भी रहेगी। महिलाओं को न्यूनतम 30 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। इसके अलावा अल्पसंख्यक 15 और दिव्यांगों को पांच फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण देने वाली संस्थाओं को इसकी जानकारी मिशन निदेशालय को देनी होगी कि उनके यहां किस वर्ग के कितने लोगों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। निदेशालय स्तर से जरूरत के आधार पर इसका सत्यापन भी कराया जाएगा।मिशन निदेशक यशु रुस्तगी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। संस्थओं को सेक्टर में लक्ष्य आवंटित कर दिया गया है। सेक्टर के अंतर्गत प्रशिक्षण के लिए पाठ्यक्रम का चयन नगर निगम वाले शहरों में नगर आयुक्त यानी परियोजना निदेशक और गैर नगर निगम वाले शहरों में डीएम के माध्यम से किया गया है। चयनित संस्थाएं 30 दिन के अंदर स्मार्ट सेंटर बनाते हुए प्रशिक्षण शुरू करेंगी।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇