प्रधानाध्यापिका सहित तीन शिक्षकों का सीडीओ ने रोका वेतन

सोनभद्र:  मुख्य विकास अधिकारी डॉ. अमित पाल शर्मा ने मंगलवार को करमा और घोरावल ब्लॉक के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ ही कई विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान बिना किसी सूचना के अनुपस्थित प्रधानाध्यापिका सहित तीन शिक्षकों का वेतन रोकने के साथ प्रभारी चिकित्साधीक्षक घोरावल से जवाब तलब किया है। वहीं करमा अस्पताल में साफ-सफाई अच्छी मिलने पर संतोष जताया।


सीडीओ सबसे पहले प्राथमिक विद्यालय करमा पहुंचे। निरीक्षण के समय प्रधानाध्यापिका इंद्रावती देवी आकस्मिक अवकाश पर बताई गईं लेकिन उनका कोई प्रमाणित सूचना/अभिलेख उपलब्ध नहीं था। शिक्षक नारायण वर्मा भी अनुपस्थित मिले। इस पर उन्होंने बीएसए को निर्देश दिया कि वे स्वयं जांच कर अपनी आख्या तीन दिन में उपलब्ध कराएं। विद्यार्थियों की कम उपस्थिति पर असंतोष जताया। सीडीओ ने प्रधानाध्यापिका सहित तीन शिक्षकों का अंतिम आदेश तक वेतन रोकने का निर्देश दिया। इसके बाद उन्होंने सिरविट स्थित परिषदीय विद्यालय का निरीक्षण किया। विद्यालय परिसर का सुंदरीकरण कराने का निर्देश दिया। सीडीओ ने कस्तूरबा बालिका विद्यालय घोरावल का भी निरीक्षण किया।

स्वास्थ्य केंद्र करमा निरीक्षण के दौरान काफी साफ सुथरा पाया गया। हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर सिरविट का निरीक्षण किया। यह सेंटर पुराने भवन में संचालित है। इसके जीर्णोद्वार के लिए डीएमएफ से प्रस्ताव किया गया है। निरीक्षण के समय उपस्थित डीपीएम को निर्देशित किया कि सेंटर के मरम्मत के संबंध में यथाशीघ्र कार्यवाही सुनिश्चित करें। गांव के पंचायत भवन को देखा। वहां निरीक्षण के दौरान श्रमिक व मिस्त्री नहीं दिखे। उपस्थित लोगों ने बताया कि जनवरी से कार्य बंद है। इस पर डीपीआरओ को तीन दिन में आख्या प्रेषित करने का निर्देश दिया। पशु केंद्र सिरविट बंद मिला। सीवीओ ने बताया कि एक डॉक्टर तैनात है जो मुख्यालय पर आये हैं। वे ही इस पशु अस्पताल का संचालन करते हैं।
अधीक्षक व वार्डेन का वेतन रोका
सीडीओ डा. अमित पाल शर्मा ने दीन दयाल उपाध्याय आश्रम पद्धति विद्यालय घोरावल का मंगलवार को औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान विद्यालय परिसर में गंदगी मिली और अधीक्षक दिनेश सिंह अनुपस्थित मिले। प्रयोगशाला भी क्रियाशील नहीं मिला। समाज कल्याण अधिकारी को एक सप्ताह में प्रयोगशाला क्रियाशील कराने को कहा। साथ ही अधीक्षक व वार्डेन का वेतन आहरण पर रोक लगाने का निर्देश दिया।
अस्पताल में नहीं मिलीं 25 दवाएं
सीडीओ ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घोरावल का औचक निरीक्षण किया। यहां डा. गुरू प्रसाद उपस्थित थे। निरीक्षण के समय सभी वार्डों व अन्य भवनों में गंदगी मिली। शौचालय भी काफी गंदा मिला। इस पर अधीक्षक को चेतावनी देते हुए साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया। यहां 157 ईडीएल दवाओं के सापेक्ष 132 दवाएं मिली। 25 दवाएं नहीं मिली। डॉ. महेन्द्र बिंद के अनुपस्थिति होने पर स्पष्टीकरण मांगा। अस्पताल के बाहर खड़ी 108 एंबुलेंस में आक्सीजन सिलिंडर व इमरजेंसी दवा उपलब्ध न होने पर संबंधित एंबुलेंस प्रभारी से तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगा।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇