जनवरी के दूसरे सप्ताह में चुनाव की घोषणा संभव, फरवरी- मार्च में इलेक्शन की तैयारी


नई दिल्ली। चुनाव आयोग उत्तर प्रदेश में पिछले विधानसभा चुनाव की तरह सात से आठ चरण में चुनाव में करा सकता है। आयोग की योजना जनवरी के दूसरे सप्ताह में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करने की है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब सहित पांच राज्यों में फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव होने हैं। आयोग की टीम बुधवार से चुनावी राज्यों का दौरा करेगी। असली चुनौती उत्तर प्रदेश चुनाव की है। छह जनवरी के बाद आयोग किसी भी दिन चुनाव कार्यक्रम घोषित कर देगा।


25 तक पूरी हो जाएंगी सभी औपचारिकताएं

■ मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा, चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और अनूपचंद पांडे बुधवार से पंजाब का दौरा करेंगे और चुनावी तैयारियों का जायजा लेंगे।

■ फिर गोवा, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश का दौरा करेंगे।
■ सुरक्षा व्यवस्था के लिए गृह मंत्रालय के साथ भी बैठकें हो चुकी हैं। अन्य सभी औपचारिकताएं 25 दिसंबर तक पूरी कर ली जाएंगी।

मतदाता सूची का प्रकाशन 5 जनवरी को चुनावी राज्यों ने मतदाता सूची को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। आयोग पहले ही एक जनवरी तक मतदाता सूची का काम पूरा करने का निर्देश दे चुका है। चार राज्यों ने इस पर अपनी सहमति दी है। उत्तर प्रदेश में पांच जनवरी तक काम पूरा हो जाएगा।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇