मोबाइल व टेबलेट के लिए हजारों छात्रों का डाटा अपलोड,प्रथम वर्ष को अभी करना होगा इंतजार


प्रदेश सरकार के द्वारा युवाओं को मोबाइल फोन और टैबलेट बांटने की तैयारी की जा रही है। जिससे उच्चशिक्षा के विद्यार्थियों में खुशी की लहर है। जिले से 28429 छात्र -छात्राओं का डेटा अपलोड किया गया है। निदेशालय से अभी डेटा लॉक होने का इंतजार है।


प्रदेश सरकार के द्वारा स्नातक और परास्नातक युवाओं को मोबाइल फोन, टैबलेट देने की ऐलान किया गया। जिसकी शुरूआत भी 25 दिसंबर से करने की तैयारी चल रही है। ऐसे में युवाओं में उस दिन का बेसब्री से इंतजार है। जब उनके हाथ में मोबाइल और टैबलेट आ जाए। यहां अलग -अलग डिग्री कालेजों से स्नातक और परास्नातक के छात्र- छात्राओं का डेटा अपलोड तो कर दिया गया है। लेकिन अभी फिलहाल निदेशालय से डेटा लाक होने का इंतजार है। उच्चशिक्षा की नोडल अधिकारी डा. दीपाली गुप्ता ने बताया कि उच्चशिक्षा के 28429 बच्चों का डेटा अपलोड किया जा चुका है। जिसमें स्नातक और परास्नातक के बच्चे शामिल हैं। बताया कि इसमें से बुंदेलखण्ड विश्वविद्यालय के द्वारा इनमें से 25188 का डेटा निदेशालय भेजा गया, जबकि शेष दो जगह प्रवेश लेने के कारण ब्लाक हो गए। अब निदेशालय से डेटा लाक होने का इंतजार है।

3241 का डेटा ब्लाक : टैबलेट और मोबाइल को लेकर तमाम ऐसे युवाओं ने भी अपना डेटा अपलोड करा रखा है। जिन्होंने दो अलग- अलग कालेजों में प्रवेश ले रखा है। विश्वविद्यालय के द्वारा ऐसे करीब 3241 युवाओं का डेटा ब्लाक कर दिया गया है। नोडल अधिकारी डॉ. दीपाली गुप्ता ने बताया कि दो जगह एडमीशन लेने वालों के डेटा विश्वविद्यालय से ब्लाक कर दिए गए हैं।

प्रथम वर्ष को अभी करना होगा इंतजार

स्नातक और परास्नातक के प्रथम वर्ष के बच्चों को फिलहाल टैबलेट और मोबाइल के लिए इंतजार करना होगा। नोडल अधिकारी डॉ. दीपाली की माने तो फिलहाल प्रथम वर्ष को छोड़कर ही द्वितीय और तृतीय वर्ष के स्नातक और परास्नातक विद्यार्थियों को ही इनका वितरण किया जाएगा। जबकि प्रथम वर्ष के बच्चों को बाद में वितरण की व्यवस्था है।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇