primary ka master:- डीसी को निरीक्षण में विद्यालय मिले बंद, छात्रों ने दूध व फल न मिलने की खोली पोल, स्पष्टीकरण जारी


फर्रुखाबाद। परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को एमडीएम योजना के तहत स्कूलों में दूध और फल नहीं दिया जाता है। इसकी हकीकत डीसी एमडीएम के निरीक्षण में खुलकर सामने आई। डीसी को एक विद्यालय बंद और चार विद्यालय में शिक्षक अनुपस्थित मिले। जिनको बीएसए ने नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। जिला समन्वयक एमडीएम बीईओ सतीश चंद्र ने 14 दिसंबर को राजेपुर ब्लाक क्षेत्र के स्कूलों का निरीक्षण किया था। उनको प्राथमिक विद्यालय कुबेरपुर कुडरा बंद मिला। बीईओ के पहुंचने के बाद प्रधानाध्यापक पहुंचे। छात्रों ने दूध और फल वितरण न होने की शिकायत की। पूर्व माध्यमिक विद्यालय कुडरा कुबेरपुर में सहायक अध्यापक नवीन बाजपेई



अनुपस्थित मिले। यहां गैस लायकपुर में 75 पंजीकृत छात्रों में कनेक्शन नहीं मिला। प्राथमिक विद्यालय पिथनापुर द्वितीय के निरीक्षण में छात्रों ने दूध वितरण न करने की शिकायत की। संविलियन विद्यालय पिथनापुर में सभी व्यवस्थाएं अच्छी मिली प्राथमिक विद्यालय परतापुर में प्रधानाध्यापक सौरभ दोहरे बीआरसी पर अटैच और सहायक अध्यापक अनिरुद्ध सिंह अनुपस्थित मिले। यहां भी छात्रों ने फल और दूध वितरण न होने की शिकायत की। प्राथमिक विद्यालय से 35 उपस्थित थे। भोजन अवकाश के बाद भी एमडीएम पंजिका पर छात्रों की संख्या अंकित नहीं की गई। कक्षा एक, दो व तीन के छात्र उपस्थित पंजिका में दर्ज नहीं थे। बीईओ की रिपोर्ट पर बीएसए ने अनुपस्थित शिक्षक और सभी विद्यालय के प्रधानाध्यापकों को नोटिस जारी किया है। उन्होंने अनुपस्थित रहने, दूध और फल वितरण न करने के संबंध में तीन दिन में स्पष्टीकरण देने का आदेश दिया है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇