स्कूल में डीएम गए तो बच्चों को पढ़ाती मिली रसोइया, जवाब तलब


शाहजहांपुर। डीएम ने शनिवार को शहर के बेसिक स्कूलों का निरीक्षण किया ध्वस्त सफाई व्यवस्था खराब गुणवत्ता का मध्याहन भोजन देखकर डीएम ने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने बीएसए से जवाब मांगा है। प्राथमिक विद्यालय पक्का तालाब में डीएम को रसोइया पढ़ाते मिली।




डीएम उमेश प्रताप सिंह ने शनिवार को शहर के कई बेसिक स्कूलों का निरीक्षण किया। प्राथमिक विद्यालय पुख्ता तालाब में रसोइया बच्चों को पढ़ाते हुए मिली। इस पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए चेतावनी दी। प्राथमिक विद्यालय अंटा में मध्याहन भोजन की गुणवत्ता खराब पाए जाने पर सुधार के लिए निर्देशित करते हुए नगर शिक्षा अधिकारी को जवाब तलब किया।


कंपोजिट विद्यालय, रोटी गोदाम में नल से पानी बहता हुआ पाया गया। विद्यालय परिसर में गंदगी मिलने पर सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के प्राथमिक एवं कम्पोजिट विद्यालय का निरीक्षण करते डीएम उमेश प्रताप ने निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान डीएम ने विद्यालयों में अध्यापकों, छात्र छात्राओं की उपस्थिति, स्वच्छता व्यवस्था, शिक्षण व्यवस्था, मिड-डे मील आदि को देखा।

विद्यालयों में मिड-डे मील का मेन्यू प्रदर्शित नहीं पाया गया। अन्य खामियां मिलने पर डीएम ने नगर शिक्षा अधिकारी सपना रावत के वेतन आहरण पर रोक लगाते हुए स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश


दिए। उन्होंने मध्याहन भोजन में प्रयोग हो रहे चावल की गुणवत्ता खराब मिलने पर बेसिक शिक्षा अधिकारी से जवाब तलब किया है।



प्राथमिक विद्यालय सारीन टिकली के गेट के सामने अवैध रूप से पार्क किए गए वाहनों को सीज करने के निर्देश थाना प्रभारी को दिए। डीएम ने कहा कि धन खाते में आने के बावजूद बच्चे इस में नहीं आते तो अभिभावकों से रिकवरी की जाएगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇