जिले के अंदर स्थानांतरण की उम्मीद लगाए शिक्षकों ने ली राहत की सांस


सुल्तानपुर लंबे समय से जिले के अंदर स्थानांतरण की उम्मीद लगाए शिक्षकों ने राहत की सांस ली है। शासन की ओर से जिले के अंदर तबादले की प्रक्रिया को हरी झंडी मिलने के बाद बेसिक शिक्षा विभाग में हलचल तेज हो गई है। स्थानांतरण एवं समायोजन की प्रक्रिया के लिए पांच सदस्यीय जनपद स्तरीय समिति गठित की जाएगी।






जिले में 2,064 परिषदीय विद्यालय है। इसमें 1.450 परिषदीय प्राथमिक, 343 उच्च प्राथमिक और 271 कंपोजिट विद्यालय शामिल हैं। लंबे समय से घर से दूर नौकरी कर रहे शिक्षक जिले के अंदर स्थानांतरण की आस थे लेकिन उनकी उम्मीद पूरी नहीं हो पाई थी। अब शासन ने शिक्षकों के जनपद के अंदर स्थानांतरण एवं समायोजन की नीति जारी की है। स्थानांतरण एवं समायोजन की प्रक्रिया सॉफ्टवेयर के माध्यम से की जाएगी। इसके लिए पांच सदस्यीय जनपद स्तरीय समिति गठित होगी। समिति में जिलाधिकारी अध्यक्ष सीडीओ उपाध्यक्ष बीएसए सदस्य सचिव तथा डायट प्राचार्य व एओ बेसिक सदस्य के रूप में शामिल होंगे। मानक के आधार पर अधिक अध्यापक संख्या (सरप्लस) वाले विद्यालय व अध्यापकों की आवश्यकता वाले विद्यालय मानव संपदा पोर्टल पर 30 अप्रैल 2022 को उपलब्ध छात्र संख्य के आधार पर चिह्नित किए जाएंगे। अध्यापक की आवश्यकता वाले विद्यालय का चिह्नांकन शिक्षक विहीन, एकल शिक्षक व जहां दो से अधिक शिक्षक कार्यरत हो लेकिन रिक्तियां हो के आधार पर होगा प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने स्थानांतरण प्रक्रिया पारदर्शी रूप से संपन्न कराने का निर्देश दिया है। किसी भी स्तर पर अनियमितता पाए जाने पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी / सदस्य सचिव को पूर्णतया उत्तरदायी ठहराया जाएगा

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇