एमडीएम खाने पर शिक्षक को जमा करने होंगे प्रतिदिन 25 रुपये

मैनपुरी। बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों में बच्चों को प्रतिदिन दोपहर में मध्याह्न भोजन योजना के तहत खाना दिया जाता है। अधिकांश स्कूलों में शिक्षक भी यही खाना खाते हैं। अब उन्हें इसके लिए 25 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से चुकाने होंगे। ये आदेश मुख्य विकास अधिकारी ने जारी किया है।


जिले में 1909 विद्यालय बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित हैं। इनमें बच्चों को दोपहर में निशुल्क भोजन उपलब्ध कराया जाता है। सप्ताह के हर दिन मीनू के अनुसार अलग-अलग पकवान बच्चों को दिए जाते हैं। इसमें फल और दूध भी शामिल हैं। अधिकांश स्कूलों में बच्चों के लिए बनने वाले मिड-डे-मील का खाना शिक्षक भी खाते हैं।

योजना बच्चों के लिए संचालित है। इसके चलते मुख्य विकास अधिकारी विनोद कुमार ने सख्ती बरती है। उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को जारी आदेश में कहा है कि अगर शिक्षक मिड-डे-मील से खाना खाते हैं तो उन्हें इसके लिए एक निश्चित धनराशि चुकानी होगी। ये धनराशि उन्होंने प्रतिदिन के लिए 25 रुपये निर्धारित की है। ये धनराशि विद्यालय प्रबंध समिति के खाते में जमा करानी होगी। बाद में इस धनराशि का प्रयोग विद्यालय के किसी कार्य में किया जा सकेगा।
परिषदीय विद्यालयों में बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन योजना संचालित है। इसमें कहीं भी शिक्षकों के भोजन का प्रावधान नहीं हैं। अगर शिक्षक भोजन करना चाहते हैं तो न्यूनतम 25 रुपये जमा करने में उन्हें परेशानी नहीं होनी चाहिए।
-विनोद कुमार, मुख्य विकास अधिकारी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇