शिक्षा से वंचित बच्चों को स्कूल से जोड़ने का आह्वान:- शिक्षक, अभिभावक और ग्राम प्रधान स्कूल चलो अभियान को दें जोर

 नैनी : उत्तर प्रदेश में स्कूल चलो अभियान की शुरुआत हो गई है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रावस्ती से अभियान का शुभारंभ किया। प्रयागराज में ब्लाक संसाधन केंद्र चाका में इस अभियान की शुरुआत हुई।


 यहां बच्चों, ग्राम प्रधानों और शिक्षकों ने बड़ी स्क्रीन पर मुख्यमंत्री का संबोधन देखा और सुना। कार्यक्रम में डीएम संजय खत्री ने कहा कि जिले में 2800 विद्यालय हैं। तीन लाख 53 हजार बच्चों का पंजीयन है। 30 अप्रैल तक स्कूल चलो अभियान जारी रहेगा। इसमें शिक्षा से वंचित अधिक से अधिक बच्चों को स्कूल तक लाने का प्रयास होगा। इसमें शिक्षक, अभिभावक और ग्राम प्रधानों को बड़ी भूमिका निभानी होगी। यह भी देखना होगा कि सिर्फ बच्चों का पंजीयन न बढ़े बल्कि उनका बौद्धिक स्तर भी बढ़े। 



डीएम ने ब्लाक संसाधन केंद्र चाका दांदूपुर में बच्चों द्वारा लगाई गई टीएलएम प्रदर्शनी भी देखी। इसमें तमाम सरकारी योजनाओं की जानकारी देने वाले स्टाल भी लगे थे। कार्यक्रम के दौरान प्राथमिक विद्यालय छिवकी हथीगण प्रथम, उच्च प्राथमिक विद्यालय दांदूपर के बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुति भी दी। पिछले सत्र में विद्यालय में पंजीयन बढ़ाने में सहयोगी बने शिक्षकों, अभिभावकों व काया कल्प योजना के तहत स्कूलों को संतृप्त करने में सहयोगी बने प्रधानों को सम्मानित भी किया गया। मेधावियों को भी पुरस्कृत किया गया। 



इस अवसर पर विधायक पीयूष रंजन निषाद, वाचस्पति, राजमणि कोल, एसडीएम करछना अमृता सिंह, खंड विकास अधिकारी सपना अवस्थी, देवेंद्र श्रीवास्तव, राजेंद्र पांडेय आदि मौजूद रहे। ब्लाक संसाधन केंद्र धनूपुर में भी कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इसमें खंड शिक्षा अधिकारी डा. प्रभा शंकर पांडेय, बसंतलाल, रघुबीर कुमार, कमल गुप्ता, रामपूजन, मनोज कुमार, प्रमोद कुमार, ओम प्रकाश आदि ने सहयोग किया। मुख्यमंत्री का संबोधन अधिकांश स्कूलों में सुना गया। शिक्षकों ने पंजीयन बढ़ाने के लिए अभिभावकों के साथ बैठक भी की।

शिक्षक, अभिभावक और ग्राम प्रधान स्कूल चलो अभियान को बल दें, विद्यार्थियों ने लगाई प्रदर्शनी, सरकार की योजनाओं को भी बताया

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇