मनमानी : निलंबित शिक्षक का तानाशाह रवैया, जबरन रजिस्टर में हस्ताक्षर , जाने पूरा क्या है मामला?


मैनपुरी, बच्चों को स्कूल में ही बंधक बनाकर सनसनी फैलाने वाला शिक्षक सस्पेंड होने के बाद भी स्कूल नहीं छोड़ रहा। शिक्षक को सस्पेंड करने के बाद दूसरे स्कूल से संबद्ध कर दिया गया है। लेकिन इसके बावजूद शिक्षक दूसरे स्कूल में नहीं गया और वहीं उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर कर रहा है और स्कूल में ही जा रहा है। इस संबंध में स्कूल के अन्य शिक्षकों ने फोटोग्राफ्स के साथ बीएसए को शिकायती पत्र दिया है और कार्रवाई की मांग की है।


मामला घिरोर क्षेत्र के ग्राम नाहिली से जुड़ा है। नाहिली स्कूल के शिक्षकों की शिकायत पत्र बीएसए कमल सिंह ने यहां तैनात शिक्षक राजेश कुमार यादव को अनियमितताएं मिलने पर 29 मार्च को सस्पेंड कर दिया था और उसे कंपोजिट विद्यालय नगला पाल से संबद्ध कर दिया था। लेकिन शिक्षक राजेश ने 4 अप्रैल तक स्कूल नहीं छोड़ा और स्कूल के ही रजिस्टर पर अपनी उपस्थिति दर्ज कर रहा है। आरोप ये भी है कि स्कूल के सभी अभिलेख शिक्षक राजेश अपने घर ले जाता है। तीन माह पूर्व इसी शिक्षक ने निरीक्षण करने पहुंचे बीएसए कमल सिंह के साथ मारपीट कर बच्चों को विद्यालय में बंधक बनाकर सनसनी फैला दी थी। इस मामले में शिक्षक के खिलाफ घिरोर थाने में एफआईआर दर्ज है और मामले की विवेचना चल रही है।

बोले बीएसए आज कराएंगे मामले का निस्तारण

बीएसए कमल सिंह का कहना है कि निलंबित शिक्षक को नगला पाल से संबद्ध किया गया था। शिक्षक की विभागीय जांच के निर्देश खंड शिक्षाधिकारी किशनी जेपी पाल को दिए गए हैं। लेकिन शिक्षक नाहिली में ही जाकर हाजिरी लगाने की जानकारी मिली है। निलंबित शिक्षक उसी विद्यालय में उपस्थिति नहीं लगा सकता है। मंगलवार आज खंड शिक्षाधिकारी घिरोर को विद्यालय भेजकर मामले का निपटारा कराएंगे।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇