परिषदीय स्कूलों में शिक्षक ही गायब है तो कैसे बेहतर होगा बच्चों के पठन पाठन का स्तर, BSA गायब शिक्षकों को नोटिस भेजा


प्रयागराज, परिषदीय स्कूलों में पठन-पाठन का स्तर बढ़ाने की कवायद जारी है। शिक्षकों को प्रशिक्षित कर नए तौर तरीके अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। वहीं एआरपी अर्थात अकादमी रिसोर्स पर्सन और एसआरजी (स्टेट रिसोर्स ग्रुप) के माध्यम से सभी विद्यालयों में सहयोगात्मक पर्यवेक्षण की व्यवस्था की गई है। इसके तहत एसआरजी और एआरपी को विद्यालयों में जाकर शिक्षकों को बेहतर अध्याप के टिप्स देने, विद्यार्थियों से भी बात कर उन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित करने का निर्देश है। तमाम एसआरजी और एआरपी इस कार्य को कर रहे हैं। हालांकि कई स्कूलों में जाने पर पता चल रहा है कि वहां के शिक्षक विद्यालय से नदारत हैं। ऐसे में पठन-पाठन के स्तर को बेहतर बनाना दूर की कौड़ी लग रहा है।


बीएसए ने अनुपस्थित शिक्षकों को नोटिस भेजा

एआरपी अरविंद कुमार मिश्र ने पिछले दिनों कई स्कूलों का सहयोगात्मक पर्यवेक्षण किया। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में बताया कि प्राथमिक विद्यालय झूंसी की शिक्षक अर्चना सिंह 14 फरवरी को अनुपस्थित रहीं। इसी तरह प्राथमिक विद्यालय भिखनापुर के शिक्षक अमिताभ कुमार सिंह, उच्च प्राथमिक विद्यालय कतवारूपुर के आशुतोष यादव, श्रद्धा सिंह, उच्च प्राथमिक विद्यालय झूंसी की सत्यवती प्रजापति, प्राथमिक विद्यालय दुर्गागंज की पल्लवी सिंह, धृति सिंह, प्राथमिक विद्यालय मनिकापुर की शिक्षामित्र नवनीता पाल क्रमश: 21 फरवरी, 23 फरवरी, दो मार्च, तीन मार्च और सात मार्च को अनुपस्थित मिली थीं। इस रिपोर्ट को गंभीरता से लेते हुए बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी ने संबंधित शिक्षकों को नोटिस भेजकर स्पष्टीकरण मांगा है। कहा कि तीन दिन के भीतर जवाब न मिलने पर नियमानुसार विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

स्कूल के समय में बदलाव की मांग

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने परिषदीय स्कूलों के समय में बदलाव के लिए आवाज उठाई है। कहा है कि पारा तेजी से चढ़ रहा है। गर्मी और उमस बढ़ रही है। ऐसे में परिषदीय स्कूलों का समय सुबह आठ बजे से अपराह्न 12 कर दिया जाए तो शिक्षकों और विद्यार्थियों को सुविधा होगा। ऐसा इसलिए कि तमाम स्कूलों में बच्चों को गर्मी से बचाने के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं हैं।

सेवानिवृत्त शिक्षक को दी विदाई

प्रयागराज के केपी इंटर कालेज में गणित प्रवक्ता शिवराज सिंह यादव के सेवानिवृत्त होने पर विद्यालय परिवार की ओर से विदाई व अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मुंशी कालीप्रसाद कुलभास्कर की प्रतिमा पर माल्यार्पण व कुलगीत से हुई। प्रधानाचार्य डा. योगेंद्र सिंह ने अतिथियों का स्वागत कर सेवानिवृत शिक्षक शिवराज सिंह यादव के कालेज में दिए गए योगदान को भी बताया। मुख्य अतिथि विद्यालय के प्रबंधक एवं कायस्थ पाठशाला न्यास के अध्यक्ष चौधरी जितेंद्र नाथ सिंह रहे। उन्होंने सेवानिवृत्त शिक्षक को अंगवस्त्र ओढ़ाकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में स्वाती मिश्रा, सोमनाथ बरन, डा. रामप्यारे मौर्य, डा. संजय श्रीवास्तव, प्रेमसागर, एसडी कौटिल्य, डा. सुधा प्रकाश आदि मौजूद रहीं।

.

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇